पंजाब में अकाली दल और भाजपा के गठजोड़ का पेच फंसा, पूर्व मंत्री मित्तल का आरएसएस को लेकर बड़ा ब्यान, कट्टरपंथियों को दिया जवाब। जाखड़ दिल्ली पहुंचे, सुखबीर कल जाएंगे। ➡️ न्यूज Link न खुलने पर पहले 92185 89500 नम्बर को फोन में save कर लें।

13

0

Target News

चंडीगढ़ । राजवीर दीक्षित

राजनीति के बोहड़ व अकाली दल के सुप्रीमो प्रकाश सिंह बादल व पूर्व मंत्री मदन मोहन मित्तल की मित्रता की मिसाल पंजाब में खूब दी जाती थी जिसके चलते अकाली-भाजपा गठजोड़ की एकता कायम रही।

समीकरण बदले अब बड़े भाई छोटे भाई में दूरियां है या यूं कहें किसी ने कोशिश ही नहीं की। इस मामले में अब मदन मोहन मित्तल का बड़ा ब्यान सामने आया है।

भाजपा और अकाली दल के बीच पंजाब में गठबंधन की बातचीत रुक गई है। सूत्रों के मुताबिक दोनों के बीच सीट शेयरिंग को लेकर सहमति नहीं बनी है।

अकाली दल पिछली बार की तरह बड़े भाई की भूमिका में रहना चाहता है लेकिन भाजपा इस बार छोटे भाई की भूमिका में ज्यादा सीटों की डिमांड कर रही हैं।

सूत्रों के मुताबिक अकाली दल पंजाब की 13 लोकसभा सीटों में से 8 पर खुद और 5 भाजपा को देना चाहती है। हालांकि भाजपा बढ़ते जनाधार का हवाला देते हुए 6 सीटें मांग रही है। जिसको लेकर सहमति नही बन पा रही है। कुल मिला कर गठबंधन का पेच फंसा हुआ है।

भाजपा के सीनियर नेता हरजीत सिंह ग्रेवाल ने कहा कि पंजाब के अध्यक्ष सुनील जाखड़ दिल्ली गए हैं। वहां बातचीत हो रही है। उन्होंने माना है कि अकाली दल के गठजोड़ तोड़ने की वजह से ही आम आदमी पार्टी पंजाब की सत्ता में आ गई।

वहीं अकाली दल के प्रवक्ता अर्शदीप कलेर ने कहा कि सीट शेयरिंग जैसा कोई मुद्दा नहीं है। अकाली दल के बंदी सिखों की रिहाई, किसानों की MSP समेत कई तरह के मुद्दे हैं, पहले उन पर सहमति होनी जरूरी है। पहले भी पंजाब में आतंकवाद के काले दौर को खत्म करने के लिए अकाली दल ने भाजपा से गठबंधन किया था।

सूत्रों के मुताबिक बातचीत के लिए सुखबीर बादल कल दिल्ली जा सकते हैं। उधर इस मामले में पूर्व मंत्री मदन मोहन मित्तल का बड़ा ब्यान सामने आया है।

उन्होंने ने कहा है कि दोनों दलों का गठबंधन राज्य की बेहतरी के लिए जरूरी है। उन्होंने कहा आंतकवाद के दौर में भी गठबंधन ने लोगों को राहत दी।

मदन मोहन मित्तल ने कहा कुछ लोग आरएसएस पर इस बात का ठीकरा फोड़ते आये है कि वह पंजाब में गठबंधन नहीं चाहता तो आपको बता दे यह सब कुछ उन लोगों की साजिश है जो कट्टरपंथी सोच रख बेवजह आर एस एस को टारगेट करते आये है।

उन्होंने कहा अगर पंजाब में गठबंधन होता है तो यकीनन इसका फायदा भाजपा अकाली दल को होगा और यह गठबंधन सिख हिन्दू एकता की मिसाल होगा।

  • The Target News के Whatsapp ग्रुप में शामिल हों, फेसबुक, यू-ट्यूब, इंस्टाग्राम पर Page को Like OR Follow करें। ➡️ ➡️ खबर का Link न खुलने पर 92185 89500 नम्बर को तुरंत फोन में सेव करें। Click करें