देखे Video : हिमाचल में युवती को तेजधार हथियार से काटा,बस स्टैंड पर युवक ने 10 बार वार किए,भीड़ ने पकड़ा तब बची लड़की

[google-translator]

The Target News

पालमपुर । राजवीर दीक्षित

हिमाचल के पालमपुर बस स्टैंड पर एक युवक ने युवती पर सरेआम तेजधार हथियार से हमला कर दिया। युवक ने दराट से एक के बाद एक 10 बार युवती पर वार किए। इससे युवती गंभीर रूप से घायल हो गई।

➡️ लड़की पर हमले का Video देखने के लिए इस Link को Click करें।

बस स्टैंड पर मौजूद लोगों ने मौका लगते ही युवक को दबोच लिया और उसकी जमकर धुनाई की। घटना का वीडियो भी वॉयरल हो रहा है।

युवती को गंभीर हालत में टांडा मेडिकल कॉलेज रेफर किया गया है।

लोगो द्वारा पकड़ कर पुलिस के हवाले किये गए आरोपी युवक की पहचान नगरोटा के मसल गांव के रहने वाले सुमित चौधरी के रूप में हुई है। घायल युवती सायना सालन गांव की रहने वाली है।

जांच में सामने आया है कि सुमित और युवती दोनों एक दूसरे को अच्छे से पहचानते थे। मामला प्रेस प्रसंग से जुड़ा भी हो सकता है। सुमित लोक निर्माण विभाग में मल्टी टास्क वर्कर है, जबकि युवती डीएवी कॉलेज में MA की पढ़ाई कर रही है।

प्रत्यक्षदर्शी अनिकेत ने बताया कि दोपहर 3 बजे युवक बस स्टैंड की सीढ़ियों पर खड़ा था। जैसे ही युवती आई तो उसे उसके मुंह की तरफ दराट से हमला कर दिया। युवती ने बचाव में हाथ आगे किया तो उसकी उंगली कट गई। इसके बाद युवक ने कई बार हमला किया। युवती के सिर, बाजू, गर्दन और हाथ की उंगली पर वार किए। युवती की चोटी (बाल) भी कटकर वहीं गिर गई।

युवती लोगों से मदद की गुहार लगाती रही, लेकिन युवक के हाथ में तेजधार हथियार होने के चलते कोई उसे बचाने के लिए पास नहीं आ पाया। युवती खून से लथपथ होकर वहीं गिर गई।

हमला करते वक्त जैसे ही युवक के हाथ से दराट नीचे गिरा तो वहां मौजूद लोगों ने उसी वक्त उसे दबोच लिया और जमकर धुनाई की। इसके बाद लोगों ने उसे पुलिस के हवाले कर दिया।

घायल युवती को पालमपुर सिविल अस्पताल ले जाया गया, जहां से उसे टांडा मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल रेफर किया गया। युवती का हालत गंभीर बताई जा रही है। उसके हाथ की 3 से 4 उंगलियां भी कट गई हैं।

ASP वीर बहादुर ने बताया कि पालमपुर बस अड्डा में युवती पर हमला करने वाला आरोपी गिरफ्तार कर दिया लिया है। आरोपी ने लड़की के सिर, गर्दन, बाजू और हाथ की उंगली पर कई बार हमला किया है। मामले की जांच की जा रही है।

इस घटना को पुलिस की कथित लापरवाही से जोड़कर देखा जा रहा है। अति व्यस्त रहने वाले बस स्टैंड पर हुई उक्त घटना के वक्त भी कोई पुलिस कर्मी पूरे बस स्टैंड पर नही था।