New Loan ग्राहकों को मिली बड़ी राहत, बैंक नहीं ले पाएगा ये फीस, RBI का फैसला ➡️ न्यूज Link न खुलने पर पहले 92185 89500 नम्बर को फोन में save कर लें।

9

0

Target News

नई दिल्ली । राजवीर दीक्षित

भारतीय रिजर्व बैंक ने अपनी द्विमासिक मौद्रिक नीति को पेश कर दिया है।

इसमें भले रेपो रेट नहीं बदला गया है, लेकिन नए लोन ग्राहकों को बड़ी राहत दी गई है।

अब से होम लोन या कार लोन लेने वाले नए ग्राहकों को लोन प्रोसेसिंग फीस नहीं देनी होगी।
नए लोन ग्राहकों को मिली बड़ी राहत

अगर आप भी नया घर या कार खरीदने के बारे में सोच रहे हैं, तो भारतीय रिजर्व बैंक ने अपनी मोनेटरी पॉलिसी में बड़ी राहत प्रदान की है।

रेपो रेट को पहले की तरह 6.5 प्रतिशत पर रखकर भले आरबीआई ने लोगों की लोन ईएमआई सस्ती न की हो, लेकिन जो लोग अब नया लोन लेंगे उन्हें लोन के साथ लगने वाले डॉक्यूमेंटेशन, प्रोसेसिंग शुल्क और

अन्य तरह के चार्जेस अलग से नहीं देने होंगे। ये उनके लोन के ब्याज में ही जुड़ जाएंगे।

➡️ भाखड़ा नहर में गिरा LPG गैस सिलेंडर से भरा ट्रक, देखें Video इस लिंक को Click करें ।

आरबीआई लंबे समय से ग्राहकों के लिए लोन और उससे जुड़े सिस्टम को ट्रांसपरेंट बनाने की कोशिश कर रहा है।

फिर चाहे वो लोन की रिकवरी के लिए नियमों का बनाना हो या लोन पर वसूले जाने वाले ब्याज को रेपो रेट से लिंक करना।

अब आरबीआई ने लोन प्रोसेसिंग फीस और डॉक्यूमेंटेशन चार्जेस को लेकर भी ऐसा ही फैसला किया है।

अलग से नहीं देनी होगी लोन प्रोसेसिंग फीस

आरबीआई गवर्नर शक्तिकांत दास ने पेश की गई मौद्रिक नीति के दौरान बताया कि अभी ग्राहक जब लोन लेने जाते हैं, तो उन्हें ब्याज के साथ-साथ लोन लेने की शुरुआत में डॉक्युमेंटेशन, प्रोसेसिंग और अन्य शुल्क देने होते हैं।

इस तरह उनके लोन पर आने वाला खर्च अधिक होता है।

इसलिए अब बैंकों से कहा गया है कि वह लोन पर लगने वाले अन्य शुल्कों को उनके ब्याज दर में ही जोड़ दें।

ताकि ग्राहकों को ये पता लग सके कि उन्हें अपने लोन पर कितना वास्तविक ब्याज देना है।

आरबीआई का कहना है कि लोन के साथ मिलने वाले ‘Key Facts Statements’ में ग्राहकों को सारी डिटेल दी जाती है।

इसमें प्रोसेसिंग फीस से लेकर डॉक्युमेंटेशन चार्जेस शामिल होते हैं।

अब आरबीआई ने इसे हर तरह के रिटेल लोन, (कार, ऑटो, पर्सनल लोन) और एमएसएमई लोन के लिए अनिवार्य कर दिया है।

आरबीआई ने 2024 की पहली मोनेटरी पॉलिसी को पहले की तरह यथावत रखा है। रेपो रेट की दर आखिरी बार फ्रवरी 2023 में बदली थी।

  • The Target News के Whatsapp ग्रुप में शामिल हों, फेसबुक, यू-ट्यूब, इंस्टाग्राम पर Page को Like OR Follow करें। ➡️ ➡️ खबर का Link न खुलने पर 92185 89500 नम्बर को तुरंत फोन में सेव करें। Click करें