MP Ravneet Bittu की सरकारी कोठी में चली गोली, सुरक्षाकर्मी की मौत ➡️ न्यूज Link न खुलने पर पहले 92185 89500 नम्बर को फोन में save कर लें।

18

0

Target News

लुधियाना । राजवीर दीक्षित

पूर्व मुख्यमंत्री बेअंत सिंह के पोते और लुधियाना से सांसद रवनीत सिंह बिट्टू की सरकारी कोठी में गोली चल गई।

गोली उनके घर की सुरक्षा में तैनात कर्मचारी संदीप कुमार को लगी जिससे उसकी घटनास्थल पर ही मौत हो गई।

संदिग्ध हालत में हुई संदीप की मौत के बाद थाना डिवीजन नंबर 8 की पुलिस ने जांच शुरु कर दी है।

गोली चलने की आवाज सुनते ही अन्य सुरक्षा कर्मियों ने जब कमरे में जाकर देखा तो संदीप लहूलुहान पड़ा था और उसकी मौत हो चुकी थी।

इसके बाद कर्मचारियों ने इसकी जानकारी सीआईएसएफ के उच्च अधिकारियों को दी। इसके बाद सीआईएसएफ के साथ-सुथ पुलिस भी मामले की जांच में जुटी है।

देखें Video : हिमाचल से फर्जीवाड़ा भर्ती मामला, पहाड़ों में घूमने वालों को छूट, सड़क हादसों से बचने के लिए AI का होगा इस्तेमाल

उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर इलाके के रहने वाले संदीप कुमार पिछले काफी समय से लुधियाना से कांग्रेसी सांसद रवनीत सिंह बिट्टू के सुरक्षा दस्ते में तैनात थे।

सांसद रवनीत सिंह बिट्टू अपने अन्य सुरक्षा कर्मचारियों के साथ लुधियाना में ही किसी कार्यक्रम में गए हुए थे। कुछ सुरक्षा कर्मचारी रोजगार्डन के पास स्थित उनकी सरकारी कोठी में तैनात थे।

अपने कमरे में बैठा था संदीप, अपनी ही पिस्टल से चली गोली

बताया जा रहा है कि संदीप कुमार अपने कमरे में बैठा हुआ था। इसी दौरान उसकी पिस्टल से ही गोली चली जो उसकी गर्दन के पास जा लगी।

संदीप की मौके पर ही मौत हो गई। गोली चलने की आवाज सुनकर कोठी के अंदर और बाहर तैनात सुरक्षा कर्मचारी तुरंत संदीप के कमरे में पहुंचे।

संदीप की मौत की जानकारी उच्च अधिकारियों और लुधियाना कमिश्नरेट पुलिस को दी गई।

सांसद बिट्टू को अपने सुरक्षा कर्मी की मौत की खबर मिली तो वह तुरंत अपने घर पहुंचे और घटनास्थल पर सारी जानकारी हासिल की।

सीआईएसएफ के अधिकारी और थाना डिवीजन नंबर 8 की पुलिस कोठी के अंदर और बाहर लगे सीसीटीवी कैमरे चेक कर रही है, ताकि पता लगाया जा सके कि आखिर गोली कैसे चली है।

उल्लेखनीय है कि सांसद रवनीत सिंह बिट्टू कट्टरपंथियों के खिलाफ लगातार कोई न कोई बयान देते रहते हैं जिस कारण वह आतंकियों के निशाने पर भी हैं।

इसी कारण पुलिस और उसकी सुरक्षा में तैनात सीआईएसएफ अधिकारी कोई भी रिस्क नहीं लेना चाहते।

वह इसकी पूरी जांच करने के बाद रिपोर्ट बनाकर उच्च अधिकारियों के साथ-साथ केंद्र सरकार भी सौंपेंगे।

थाना डिवीजन नंबर 8 के एसएचओ इंस्पेक्टर विजय कुमार ने बताया कि मामले की जांच की जा रही है और पोस्टमार्टम के बाद ही सारा खुलासा हो पाएगा।

The Target News के Whatsapp ग्रुप में शामिल हों, फेसबुक, यू-ट्यूब, इंस्टाग्राम पर Page को Like OR Follow करें। 
  • ➡️ ➡️ खबर का Link न खुलने पर 92185 89500 नम्बर को तुरंत फोन में सेव करें। Click करें