हिमाचल-हमीरपुर में सतपाल रायजादा की टिकट ‘होल्ड’, आस्था हो सकती है उम्मीदवार, धर्मशाला से आशा की उम्मीदवारी खतरे में।

[google-translator]

The Target News

शिमला । राजवीर दीक्षित

हिमाचल प्रदेश में कांग्रेस हमीरपुर और कांगड़ा लोकसभा सीट पर उम्मीदवार बदल सकती है। कांगड़ा में पूर्व मंत्री आशा कुमारी और हमीरपुर में पूर्व विधायक सत्तपाल रायजादा का टिकट लगभग फाइनल होने के बावजूद होल्ड कर दिया गया है।

मुख्यमंत्री सुक्खू के संकेत देने के बाद हमीरपुर में तो सत्तपाल रायजादा चुनाव प्रचार भी शुरू कर चुके है। मगर अब यहां प्रत्याशी बदले जाने की चर्चाएं हैं। डिप्टी सीएम मुकेश अग्निहोत्री की बेटी आस्था अग्निहोत्री उम्मीदवार हो सकती है।

सूत्र बताते हैं कि, हमीरपुर सीट से कांग्रेस हाईकमान ने डिप्टी CM मुकेश अग्निहोत्री की जीत के लिए जिम्मेवारी ‘फिक्स’ की है। मुकेश 5 बार लगातार ऊना के हरोली से जीत चुके है।

➡️ पंजाब के ADGP अर्पित शुक्ला ने टारगेट किलिंग को लेकर सुने क्या कहा,इस Link को Click करें।

कांग्रेस आस्था अग्निहोत्री को केंद्रीय मंत्री एवं BJP प्रत्याशी अनुराग ठाकुर के सामने चुनाव मैदान में उतारना चाह रही है। मगर मुकेश अग्निहोत्री ने पारिवारिक कारणों का हवाला देते हुए चुनाव लड़ने से इनकार किया है। बता दें कि मुकेश की पत्नी सिमी अग्निहोत्री का कुछ समय पहले ही निधन हुआ है।

सूत्रों के अनुसार पार्टी के शीर्ष नेता अब मुकेश अग्निहोत्री के जवाब का इंतजार कर रहे है।

ऐसे में हमीरपुर में टिकट बदले जाने की चर्चाएं हैं। हालांकि बीते दिनों मुख्यमंत्री सुखविंदर सिंह सुक्खू ने कुटलैहड़ विधानसभा में जनसभा के दौरान सत्तपाल रायजादा को प्रत्याशी बनाने के संकेत दे दिए थे।

इसके बाद रायजादा ने चुनाव प्रचार भी शुरू कर दिया था।

उधर , कांगड़ा सीट से दो बार की मंत्री व छह बार की विधायक आशा कुमारी का टिकट भी फाइनल माना जा रहा था। कांगड़ा संसदीय हलके में पार्टी में उनके कद का कोई दूसरा नेता भी नहीं है। बावजूद इसके आशा का टिकट कट सकता है।

आशा कुमारी का चंबा जिला से होना उनके टिकट कटने की बड़ी वजह बन सकता है, क्योंकि कांगड़ा संसदीय हलके में चंबा जिला की चार विधानसभा सीटे हैं, जबकि कांगड़ा की 13 सीटें है। इसलिए कांग्रेस कांगड़ा जिले से संबंध रखने वाले किसी नेता को टिकट देना चाह रही है।