पतंजलि को लगा झटका इन फेमस प्रोजेक्टों पर लगी बेन इन प्रोजेक्टों के लाइसेंस हुए रद्द, जानिए वजह

[google-translator]

The Target News

नई दिल्ली । राजवीर दीक्षित

योग गुरु बाबा रामदेव को बड़ा झटका लगा है। एक बड़ा कदम उठाते हुए, उत्तराखंड लाइसेंसिंग अथॉरिटी ने 14 पतंजलि उत्पादों के लाइसेंस तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिए।

अथॉरिटी ने इस संबंध में सुप्रीम कोर्ट में हलफनामा दायर किया है, जिसमें कहा गया है कि भ्रामक विज्ञापन के मामले में पतंजलि के 14 उत्पादों के लाइसेंस तत्काल प्रभाव से रद्द कर दिए गए हैं।

इनमें पतंजलि आयुर्वेद की दृष्टि आई ड्रॉप से लेकर दिव्य फार्मेसी की मधुमेह की दवा मधुनाशिनी वटी भी शामिल है।

इसके अलावा जिन दवाओं के लाइसेंस कैंसल किए गए हैं, उनमें दिव्य फार्मेसी के श्वासरि गोल्ड, श्वासरि वटी, ब्रोंकोम, श्वासरि प्रवाही, श्वासरि अवलेह, मुक्ता वटी एक्स्ट्रा पावर, लिपिडोम, बीपी ग्रिट, मधुग्रिट, मधुनाशिनी वटी एक्स्ट्रा पावर, लिवामृत एडवांस, लिवोग्रिट और आईग्रिट गोल्ड भी शामिल हैं।

सुप्रीम कोर्ट में दायर हलफनामे में लाइसेंसिंग निकाय ने कहा कि उसने भ्रामक विज्ञापन मामले में पतंजलि की दिव्य फार्मेसी द्वारा निर्मित 14 उत्पादों के लाइसेंस निलंबित कर दिए हैं।

उत्तराखंड औषधि नियंत्रण विभाग के एक नोटिफिकेशन में कहा गया है कि दिव्य फार्मेंसी की ओर से अपने उत्पादों की प्रभावशीलता के बारे में बार-बार भ्रामक विज्ञापन प्रकाशित करने के कारण लाइसेंस कैंसल किए गए हैं।