Budget से पहले सरकार ने दिया बड़ा तोहफा, सस्ते होंगे Mobile Phones ➡️ न्यूज Link न खुलने पर पहले 92185 89500 नम्बर को फोन में save कर लें।

12

0

Target News

नई दिल्ली । राजवीर दीक्षित

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व वाली सरकार पहली फरवरी को अंतरिम बजट पेश करेगी, लेकिन बजट पेश होने से पहले ही सरकार ने एक तोहफा दिया है, जो आम आदमी के लिए भी फायदेमंद साबित हो सकता है।

इसके तहत मोबाइल फोन इंडस्ट्री के लिए एक बड़ा ऐलान किया गया है। सरकार ने मोबाइल फोन पाट्र्स के आयात शुल्क (इम्पोर्ट ड्यूटी) को घटा दिया है। इस फैसले से मोबाइल फोन की कीमतों में कमी आ सकती है यानी ये सस्ते हो सकते हैं।

15 प्रतिशत से घटा कर 10 प्रतिशत की गई इम्पोर्ट ड्यूटी

बिजनेस टुडे पर छपी रिपोर्ट के मुताबिक, मोदी सरकार ने बुधवार को बजट से ऐन पहले मोबाइल पाट्र्स पर लगने वाली इम्पोर्ट ड्यूटी में कटौती का ऐलान किया है।

इसे 15 प्रतिशत से घटाकर 10 प्रतिशत कर दिया गया है और यह न केवल मोबाइल फोन इंडस्ट्री, बल्कि देश के आम लोगों के लिए राहत भरी खबर है।

क्योंकि इम्पोर्ट ड्यूटी कम होने के चलते मोबाइल फोन मैन्यूपैक्चरिंग की कॉस्ट भी कम हो जाएगी और कंपनियां फोन की कीमतों में भी कटौती कर सकती है।

यहां लगेगा 10 प्रतिशत शुल्क

सरकार ने मोबाइल के तमाम कंपोनेंट पर आयात शुल्क 10 प्रतिशत कर दिया है। इसमें बैटरी कवर, फ्रंट कवर, मिडिल कवर, बैक कवर, मेन लेंस, जीएसएम एंटीना, पीयू केस, सिम शॉकेट, स्क्रू, प्लास्टिक और मेटल के मैकेनिकल आइटम जैसे कंपोनेंट शामिल हैं। इन सभी का इस्तेमाल को असेंबल करने में होता है।

इन कंपोनेंट के भी घटे दाम

मोबाइल के कुछ और कंपोनेंट पर भी आयात शुल्क घटाकर 10 प्रतिशत कर दिया गया है। इसमें कंडक्टिव क्लॉथ, एलसीडी कंडक्टिव फोम, एलसीडी फोम, बीटी फोम, बैटरी की गर्मी रोकने वाला कवर, स्टिकर बैटरी स्लॉट, मेन लेंस की प्रोटेक्टिव फिल्म, एलसीडी एफपीसी, फिल्म फ्रंट फ्लैश और साइड-‘की’ पर आयात शुल्क 10 प्रतिशत कर दिया गया है।

फोन इंडस्ट्री की मांग पर सरकार राजी

गौरतलब है कि मोबाइल फोन सेक्टर से जुड़ी हुई कंपनियां भारत में स्मार्ट फोन बनाने की लागत को कम करने और चीन व वियतनाम जैसे क्षेत्रीय प्रतिस्पर्धियों के साथ समान स्तर पर प्रतिस्पर्धा करने के लिए लगभग 10 साल से आयात शुल्क में कटौती पर जोर दे रही थीं और संसद में बजट पेश होने से ठीक एक दिन पहले सरकार ने इसे हरी झंडी दिखा दी है।

तीन गुना तक बढ़ जाएगा मोबाइल फोन निर्यात!

इंडियन सेल्युसर एंड इलेक्ट्रॉनिक्स एसोसिएशन ने पहले भी कहा था कि अगर सरकार घटकों पर आयात शुल्क कम करती है और उन्हें कुछ श्रेणियों में समाप्त करती है, तो भारत से मोबाइल फोन निर्यात अगले दो वर्षों में तीन गुना बढक़र 39 अरब डॉलर हो सकता है, जो वित्त वर्ष 2023 में 11 अरब डॉलर था।

भारतीय मोबाइल उद्योग को वित्त वर्ष 2024 में लगभग 50 अरब डॉलर मूल्य के मोबाइल फोन बनाने की उम्मीद है, जो अगले वित्तीय वर्ष में बढक़र 55-60 अरब डॉलर होने की संभावना है। वित्त वर्ष 2024 में निर्यात बढक़र लगभग 15 अरब डॉलर और फिर वित्त वर्ष 25 में 27 अरब डॉलर तक बढऩे की संभावना है।

The Target News के Whatsapp ग्रुप में शामिल हों, फेसबुक, यू-ट्यूब, इंस्टाग्राम पर Page को Like OR Follow करें।