पंजाबियों के ‘मूड’ में फिर ‘आप’, कांग्रेस, बीजेपी, एसएडी फिर हताश, पढ़ें मूड ऑफ द नेशन सर्वे की ये रिपोर्ट ➡️ न्यूज Link न खुलने पर पहले 92185 89500 नम्बर को फोन में save कर लें।

13

0

Target News

नई दिल्ली । राजवीर दीक्षित

अगले कुछ महीनों में देश में लोकसभा चुनाव होने हैं।

उससे पहले इंडिया टुडे और सी वोटर एक सर्वे सामने लेकर आया है, जिसमें देश की जनता का मिजाज भांपने की कोशिश की गई कि अगर आज लोकसभा चुनाव हो जाएं तो किस पार्टी को कितनी सीटें मिलेंगी और वोट प्रतिशत कितना होगा।

मूड ऑफ द नेशन सर्वे में देश की सभी लोकसभा सीटों को शामिल किया गया है, जिसका सैंपल साइज 1,49,092 है।

इस सर्वे में करीब 35 से 38 हजार लोगों से बात की गई है, जिसके आधार पर वोट प्रतिशत और पार्टियों को मिलने वाली सीटों की संख्या के बारे में बता रहे हैं।

दिल्ली और पंजाब की सत्ता पर काबिज आम आदमी पार्टी के लिए ये सर्वे गुड भी है और बैड भी। पंजाब के आंकड़े देखें तो गुड सर्वे है, लेकिन दिल्ली के आंकड़े देखे तो आप के खाते में एक भी सीट नहीं आती दिख रही। दिल्ली की सभी सीटों पर भाजपा काबिज होती बताई जा रही है।

पंजाब में आप को चार सीटों की बढ़त, नुकसान में कांग्रेस

मूड ऑफ द नेशन के चुनावी सर्वे में पंजाब से आम आदमी पार्टी को राहत की खबर मिली है। वहीं कांग्रेस की टेंशन बढ़ गई है।

पिछले लोकसभा चुनाव में कांग्रेस पार्टी को 8 सीटें मिली थीं, जबकि इस बार 5 सीटें ही मिलती दिख रही हैं।

कहते हैं न शिक्षा जरुरी है…पंजाब के शिक्षा मंत्री हरजोत सिंह बैंस की सोच को Salute. जो कह रहे हैं, अगर ऐसा हो गया तो सोचिए कहां पहुंच जाएगा पंजाब, देखें Video

हालांकि पिछले चुनाव की तुलना में इस बार आम आदमी पार्टी को राज्य में 4 सीटों की बढ़त मिलते दिख रही है।

अकाली दल को पिछले चुनाव में पंजाब में दो सीटों पर जीत हासिल हुई थी, लेकिन इस बार पार्टी को सिर्फ एक सीट ही मिलते दिख रही है।

बीजेपी की सीट में न बढ़त हुई है और न ही कोई घाटा होते दिख रहा है। पिछले चुनाव में भी बीजेपी को पंजाब में दो सीटें मिली थीं, जोकि इस बार भी मिलती दिख रही हैं।

सर्वे के मुताबिक पंजाब में आम आदमी पार्टी जबरदस्त पोजिशन में है।

राज्य की सत्ता में काबिज आम आदमी पार्टी और प्रमुख विपक्षी दल कांग्रेस को पांच-पांच सीट मिलने की बात कही जा रही है।

वहीं भाजपा को सिर्फ 2 सीटें तथा अकाली दल को एक सीट मिलने का दावा इस सर्वे में किया जा रहा है।

चंडीगढ़ मेयर इलेक्शन में लोकतंत्र की हुई हत्या – सुप्रीम कोर्ट : देखें Video इस लिंक को Click करें ।

आपके हिस्से इतने प्रतिशत वोट

पंजाब में हुए सर्वे का सबसे दिलचस्प हिस्सा वोट शेयर के झरोखे से नजर आता है।

यहां आम आदमी पार्टी को 27.2 प्रतिशत वोट मिल रहे हैं, जबकि 2019 में महज 7.38 प्रतिशत लोगों ने इस पार्टी पर अपना भरोसा जताया था।

यानी करीब 20 प्रतिशत वोटरों का नया समर्थन उसे हासिल हुआ है। इसके उलट आगामी चुनाव में सबसे ज्यादा नुकसान शिरोमणि अकाली दल को होता दिख रहा है।

पिछले चुनाव में 27.45 प्रतिशत वोट पाने वाली पार्टी को इस बार 14.4 प्रतिशत वोट ही मिल रहे हैं।
यानी बादलों की इस पार्टी की पंजाब में वही हालत हो रही है, जो यूपी में बसपा का है।

कांग्रेस को तो पिछले चुनाव में 40.12 प्रतिशत वोट मिले थे, लेकिन सर्वे के मुताबिक इस बार करीब तीन प्रतिशत वोट कम होकर 37.6 प्रतिशत वोट मिलने का अनुमान है।

भाजपा- न खुश, न अफसोस

यदि इस सर्वे को भाजपा की नजर से देखें तो न खुश होने वाली बात है, न अफसोस जताने की। पंजाब में भाजपा की उम्मीदें सदैव से अकाली दल के साथ गठबंधन पर टिकी रही हैं।

लेकिन, अकाली दल ने 2019 के चुनाव में कांग्रेस के मुकाबले बड़ा नुकसान सहा था और 2014 में 4 सीटें जीतने वाली पार्टी महज 2 सीटें जीतने में कामयाब रही।

इस बार अकाली एक सीट और गंवाने जा रहे हैं। भ्रष्टाचार और परिवारवाद के आरोपों से घिरे अकाली दल ने अपनी जमीन खो दी है।

इसके साथ ही उसे भाजपा और मोदी के नेतृत्व का भरोसा भी नहीं मिला है। जबकि पंजाब जैसे सूबे में भाजपा जहां पहले खड़ी थी, इस बार भी वहीं खड़ी दिख रही है।

2019 चुनाव की तरह उसे इस बार भी दो सीटें ही मिल रही हैं

केंद्र सरकार के खिलाफ हुए किसान आंदोलन के दौरान सबसे ज्यादा गुस्सा पंजाब में ही था। लेकिन इसके बावजूद यहां भाजपा को पिछले चुनाव के मुकाबले करीब 8 प्रतिशत वोट ज्यादा मिल रहे हैं।

2019 में भाजपा ने 9.63 प्रतिशत वोट हासिल किए थे, जबकि इस बार उसे 16.9 प्रतिशत वोट मिलने की संभावना है।

दिल्ली में

मूड ऑफ द नेशन के सर्वे में दिल्ली के जो आंकड़े सामने आ रहे हैं वो आम आदमी पार्टी के लिए चिंताजनक हैं।

बीजेपी यहां 2019 की तरह एक बार फिर क्लीन स्वीप करती हुई दिख रही है।

दिल्ली में सात लोकसभा सीटें हैं और सर्वे के मुताबिक इन सभी सातों सीटों पर बीजेपी को एक बार फिर जीत मिल सकती है।

अगर आज चुनाव हुए तो बीजेपी को दिल्ली में 56.6 प्रतिशत वोट मिल सकते हैं जबकि कांग्रेस को 25.3 और आम आदमी पार्टी को 14.9 प्रतिशत वोट मिलने का अनुमान है।

जबकि अन्य के खातों में 3.2 प्रतिशत वोट जा सकते हैं। सर्वे के नतीजे सत्ताधारी सीएम केजरीवाल की पार्टी के लिए किसी झटके से कम नहीं हैं।

2014 के लोकसभा चुनाव में बीजेपी का वोट शेयर 46.40 प्रतिशत रहा था। करीब 33 प्रतिशत वोट आम आदमी पार्टी को मिले थे।

वहीं, 2019 में बीजेपी का वोट शेयर बढक़र 57 प्रतिशत हो गया था, जबकि आम आदमी पार्टी का घटकर 18 प्रतिशत पर आ गया था। 2019 में कांग्रेस को 22.5 प्रतिशत वोट मिले थे।

दिल्ली में फिर बीजेपी को सातों सीटें

दिल्ली में बीते दो लोकसभा चुनाव में बीजेपी ने यहां की सभी सातों सीटों पर जीत दर्ज की है। इस बार भी मूड ऑफ द नेशन सर्वे में बीजेपी को दिल्ली की सभी सातों सीटें मिलती नजर आ रही हैं।

 

  • The Target News के Whatsapp ग्रुप में शामिल हों, फेसबुक, यू-ट्यूब, इंस्टाग्राम पर Page को Like OR Follow करें। ➡️ ➡️ खबर का Link न खुलने पर 92185 89500 नम्बर को तुरंत फोन में सेव करें। Click करें