हिमाचल में जानें कौन होगा नया DGP: आज दिल्ली में स्क्रीनिंग कमेटी मीटिंग; कुंडू 30 को हो रहे रिटायर्ड

[google-translator]

The Target News

शिमला। राजवीर दीक्षित

हिमाचल में नए पुलिस महानिदेशक (DGP) की तैनाती को लेकर दिल्ली में आज यूनियन पब्लिक सर्विस कमीशन (UPSC) में स्क्रीनिंग कमेटी की मीटिंग होगी।

इसमें हिमाचल सरकार द्वारा संभावित DGP के लिए पैनल में भेजे गए 3 नाम की जांच की जाएगी। और DGP पद के लिए इनकी पात्रता जांची जाएगी। संजय कुंडू रिटायर हो रहे है।

UPSC की स्क्रीनिंग के बाद पैनल में भेजे गए तीन नाम में से किसे DGP लगाया जाए, यह राज्य सरकार तय करेगी। स्क्रीनिंग कमेटी की मीटिंग के लिए प्रदेश के मुख्य सचिव प्रबोध सक्सेना भी आज सुबह ही दिल्ली पहुंचे हैं।

➡️ अविनाश रॉय खन्ना के Live वीडियो देखने के लिए इस लिंक को Click करें।

पूर्व जयराम सरकार ने पूर्व डीजीपी एसआर​​​​​​ ​मरडी के रिटायर्ड होने के बाद कुंडू को 30 मई 2020 को पुलिस विभाग का मुखिया लगाया था।

प्रदेश के मौजूदा DGP संजय कुंडू छह दिन बाद यानी 30 अप्रैल को रिटायर्ड हो रहे हैं।

फिलहाल सीनियोरिटी के लिहाज से 1989 बैच के IPS एसआर ओझा का नाम सबसे आगे हैं। सीनियरिटी को तवज्जो दी गई तो इनका DGP बनना लगभग तय है।

एसआर ओझा के बाद सीनियोरिटी में 1990 बैच के श्याम भगत नेगी दूसरे नंबर पर है। मगर नेगी अभी केंद्रीय प्रतिनियुक्ति पर हैं।

उनके प्रदेश लौटने की कम संभावनाएं है। श्याम भगत नेगी के बाद 1991 बैच के डॉ. अतुल वर्मा तीसरे नंबर पर है। इन तीन में से ही किसी एक को पुलिस विभाग का मुखिया बनाया जा सकता है।

स्क्रीनिंग के बाद सरकार चुनाव आयोग से DGP की तैनाती को मंजूरी मांगेगी। आदर्श चुनाव आचार संहिता के कारण चुनाव आयोग की परमिशन जरूरी है।

आपको बता दे एसआर ओझा DGP की रेस में सबसे आगे माने जा रहे हैं। बीते मार्च महीने में संजय कुंडू के छुट्टी पर जाने के बाद ओझा 13 दिन तक डीजीपी का अतिरिक्त कार्यभार देख चुके हैं।

मूल रूप से वह बिहार के रहने वाले हैं। एसआर ओझा भी संजय कुंडू के बैच के ही है। 2025 में वह रिटायर होंगे।