विदेश यात्री कृपया ध्यान दें.. लगेज के साथ अब ‘पैसेंजर’ का वजन करेगी एयरलाइन ➡️ न्यूज Link न खुलने पर पहले 92185 89500 नम्बर को फोन में save कर लें।

10

0

Target News

नई दिल्ली । राजवीर दीक्षित

आमतौर पर फ्लाइट में ट्रैवल करने वाले लोग सामान के वजन को लेकर खास ध्यान रखते हैं। किसी परेशानी से या एक्स्ट्रा पैसा देने से बचने के लिए लोग लिमिटेड लगेज लेकर ट्रैवल करना पसंद करते हैं।

सामान तक तो ठीक है लेकिन अपने शारीरिक वजन को लेकर ट्रैवलिंग की चिंता बड़ी मुसीबत हो सकती है।
European Airline Finnair ने यह घोषणा की है कि वह हर फ्लाइट से पहले अब अपने यात्रियों का भी वजन करेगी।

Finnair की प्रवक्ता कैसा टिक्कानेन ने बताया कि विमान में चढऩे से पहले यात्रियों का वजन किया जाएगा।

उन्होंने कहा – हेलसिंकी हवाई अड्डे पर ये मेजरमेंट शुरु हुआ है। शुरुआत में अब तक, 500 से अइधक वॉलंटियर ने इस वेह इन में भाग लिया है।

➡️ भाखड़ा नहर में गिरा LPG गैस सिलेंडर से भरा ट्रक, देखें Video इस लिंक को Click करें ।

एयरलाइन ने बताया कि विमान ने कुल वजन को कैलकुलेट करना, जिसमें ईंधन, चेक किए गए सामान, कार्गो, जहाज पर खानपानस, पानी के टैंक और निश्चित रुप से ग्राहकों का वजन शामिल है।

सुरक्षित यात्रा सुनिश्चित करने के लिए यह सब जरुरी है। पहले भी विशेषज्ञों ने कहा था कि लंबी यात्राओं के लिए विमान सुरक्षित हैं या नहीं यह सुनिश्चित करने के लिए उन्हें उचित रुप से बैलेंस किया जाना चाहिए।

फिनएयर में ग्राउंड प्रोसेस के प्रमुख सतु मुन्नुक्का ने यात्रियों को आश्वासन दिया कि उनका वजन केवल स्केल चलाने वाले व्यक्ति को दिखाई देगा न कि दूसरे लोगों को।

उन्होंने कहा – ‘केवल मेजरमेंट प्वाइंट पर काम करने वाला ग्राहक सेवा एजेंट ही कुल वजन देख सकता है, इसलिए आप निजता को लेकर निश्चिंत रह सकते हैं।’

विमानों को सुरक्षित रुप से संचालित करने के लिए कुछ कैलकुलेशन करनी पड़ती हैं – प्रत्येक यात्री के अनुमानित औसत वजन का उपयोग करके विमान को संतुलित किया जा सकता है और पर्याप्त फ्यूल भरा जा सकता है।

बता दें कि इससे पहले यूनाइटेड एयरलाइंस ने यात्रियों के बढ़ते वजन के जवाब में उड़ानों में कई सीटों को ब्लॉक करना शुरु दिया था।

तब कहा गया था कि जैसे-जैसे विमान के अंदर यात्रियों का वजन बढ़ता जाएगा, विमान में सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए लोगों के बैठने के तरीके को समायोजित करने की आवश्यकता होगी – और इसका मतलब है कि कुछ सीटें खाली रहनी चाहिएं।

बता दें कि यह पहली बार नहीं है जब किसी विमान ने पैसेंजर्स का वजन किया हो।

पिछले साल, ईजीजेट की एक उड़ान ने लोगों को उतरने के लिए कहा क्योंकि विमान इतना भारी हो गया था कि हवाई अड्डे तक उड़ान भरना संभव नहीं था।

विमान के वजन और प्रतिकूल मौसम की स्थिति के कारण विमान में लगभग दो घंटे की देरी हुई।

तब पायलट को यह अनुरोध करने के लिए मजबूर होना पड़ा कि प्रति यात्री 500 यूरो (427 पाउंड) के बदले में 20 यात्री स्वेच्छा से उड़ान से बाहर निकल जाएं।

ईजीजेट के एक प्रवक्ता ने कहा था – ‘ईजीजेट पुष्टि कर सकता है कि लेनजोरेट’ से लिवरपूल की उडऩा ईजेडवाई3364 पर 19 यात्रियों ने मौसम की स्थिति के कारण विमान का वजन सीमा से अधिक होने के कारण बाद की उड़ान में यात्रा करने के लिए स्वेच्छा से निर्णय लिया।

यह एक नियमित परिचालन निर्णय है। सुरक्षा कारणों से सभी एयरलाइनों के लिए परिस्थितियां और वजन प्रतिबंध लागू हैं।’

  • The Target News के Whatsapp ग्रुप में शामिल हों, फेसबुक, यू-ट्यूब, इंस्टाग्राम पर Page को Like OR Follow करें। ➡️ ➡️ खबर का Link न खुलने पर 92185 89500 नम्बर को तुरंत फोन में सेव करें। Click करें