मुश्किल में रणदीप सुरजेवाला: चुनाव आयोग की सख्ती हेमा मालिनी के खिलाफ गलत टिप्पणी करनी पड़ी महंगी, प्रचार पर रोक के आदेश, जाने सारी जानकारी क्या बोले..

[google-translator]

The Target News

चंडीगढ़ । राजवीर दीक्षित

चुनाव आयोग ने भाजपा नेता हेमा मालिनी के बारे में “अपमानजनक टिप्पणी” को लेकर कांग्रेस नेता रणदीप सुरजेवाला पर मंगलवार को प्रचार करने पर प्रतिबंध लगा दिया है।

चुनाव आयोग ने हेमा मालिनी के बारे में कथित तौर पर “अशोभनीय, असभ्य और अभद्र” टिप्पणी करने के लिए सुरजेवाला को कारण बताओ नोटिस जारी किया। इसमें कहा गया है कि उसने सुरजेवाला के जवाब में दी गई सामग्री और बयानों की सावधानीपूर्वक समीक्षा की गई है।

“आयोग ने हरियाणा में चुनाव प्रचार के दौरान उनके द्वारा दिए गए विवादित बयान की कड़ी निंदा भी की है और कदाचार के लिए रणदीप सुरजेवाला को फटकार लगाते 48 घंटों के लिए उनके प्रचार पर रोक लगा दी है।”

➡️पूर्व कैबिनेट मंत्री के बेटे का वॉयरल Video देखने के लिए इस लिंक (लाइन) को क्लिक करें।

आयोग ने संविधान के अनुच्छेद 324 और इस संबंध में सक्षम अन्य सभी शक्तियों के तहत, सुरजेवाला को किसी भी सार्वजनिक बैठक, सार्वजनिक जुलूस, सार्वजनिक रैलियां, रोड शो और साक्षात्कार, मीडिया (इलेक्ट्रॉनिक, प्रिंट, सोशल मीडिया) आदि में सार्वजनिक भाषण देने से रोक दिया है। आयोग ने कहा है 16 अप्रैल को शाम 6 बजे से 48 घंटे तक चलने वाले चुनाव के संबंध में उनकी कोई गतिविधि नही दिखनी चाहिए।

इस लोकसभा चुनाव में चुनाव आयोग द्वारा लगाया गया यह पहला सख्त प्रतिबंध है।

विवाद उस वीडियो के बाद खड़ा हुआ, जिसे भाजपा आईटी विभाग के प्रमुख अमित मालवीय ने साझा किया था, जिसमें कथित तौर पर सुरजेवाला को भाजपा की आलोचना करते हुए हेमा मालिनी के बारे में आपत्तिजनक बयान देते हुए दिखाया गया था।

भाजपा ने सुरजेवाला की टिप्पणियों को “अश्लील, लैंगिकवादी और अपमानजनक” बताते हुए इसकी निंदा करते हुए चुनाव आयोग में शिकायत दर्ज कराई थी।

हालांकि, सुरजेवाला ने अपना बचाव करते हुए दावा किया कि वीडियो के साथ छेड़छाड़ की गई है। उन्होंने जोर देकर कहा कि उनका इरादा कभी भी भाजपा सांसद को अपमानित करने का नहीं था।