Severe Condition: पारा लुढक़ा, टपक रही हैं ओंस की बूंदे, जनजीवन अस्त-व्यस्त! अभी इतने दिन और पड़ेगा घना कोहरा | ➡️ न्यूज Link न खुलने पर पहले 92185 89500 नम्बर को फोन में save कर लें।

24

0

Target News

चंडीगढ़ । राजवीर दीक्षित

कड़ाके की ठंड और घनी धुंध की वजह से कई जिलों में सीवियर कोल्ड डे कंडीशन (गंभीर शीत दिन) बन गई है।
पंजाब के जिलों में पिछले चार दिन से धूप गायब है। सीवियर कोल्ड डे कंडीशन तब बनती है, जब दिन का तापमान सामान्य से छह डिग्री सेल्सियस कम हो जाता है।

 

अगले चार दिन तक पड़ेगी घनी धुंध

शीतलहर की स्थिति तब बनती है, जब न्यूनतम तापमान चार डिग्री सेल्सियस से नीचे चला जाए। विशेषज्ञों के अनुसार पंजाब में पांच जनवरी तक घनी से अत्यधिक घनी धुंध रहने की संभावना है।

Video : ..लो जी हिमाचल में नए साल पर नई गारंटी CM व डिप्टी CM का नया एलान देखें

धूप निकलने की संभावना कम है। इसके चलते कोल्ड डे और सीवियर कोल्ड डे कंडीशन आगे भी रहेगी। इसकी वजह से दिन के तापमान में गिरावट आ सकती है। इसके बाद धीरे-धीरे धुंध में कमी आनी शुुरु हो जाएगी।

पंजाब में कोल्ड डे का कहर

लुधियाना, एस.बी.एस. नगर, गुरदासपुर, मोगा, बरनाला व बठिंडा में सीवियर कोल्ड डे कंडीशन बनी रही।
सीवियर कोल्ड डे कंडीशन को अत्यधिक ठंडे दिन वाली स्थिति को कहा जाता है।

लुधियाना में दिन का तापमान पंजाब में सबसे कम 9.5 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया है, जबकि एसबीएस नगर में 9.7 डिग्री सेल्सियस रहा।

इन दोनों जिलों में न्यूनतम तापमान आठ डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।

Video : ➡️ श्री आनंदपुर साहिब से लोकसभा चुनाव में BJP का उम्मीदवार लगभग तय, पूरी खबर देखने के लिए इस लिंक को Click करें।

आठ डिग्री सेल्सियस से कम रहा तापमान

इन दोनों जिलों में दिन का तापमान सामान्य से आठ डिग्री सेल्सियस कम था, जबकि रात और दिन के तापमान में केवल एक डिग्री सेल्सियस का फर्क रह गया।

पीएयू मौसम विभाग के अनुसार 1970 से लेकर 2023 तक कभी भी एक जनवरी को दिन का तापमान 10.4 डिग्री सेल्सियस से नीचे नहीं गया है। ऐसा पहली बार हो रहा है।

हर जिले में लुढक़ा पारा

जनवरी के पहले सप्ताह में सामान्य तौर पर दिन का तापमान 17.7 डिग्री सेल्सियस और रात का तापमान 5.7 रहता है।

उधर गुरदासपुर, मोगा, बरनाला, फतेहगढ़ साहिब, बठिंडा में दिन का तापमान दस डिग्री सेल्सियस और रात का तापमान आठ डिग्री सेल्सियस के बीच रहा। यहां भी दिन का तापमान सामान्य से छह से सात डिग्री सेल्सियस के बीच कम था।

पंजाब में घनी धुंध का पहरा

दूसरी तरफ विशेषज्ञों का कहना है कि कोल्ड डे और सीवियर कोल्ड डे कंडीशन के कारण घनी धुंध है। धुंध से सूरज की धूप जमीन पर पहुंच नहीं पाती।

धूप नहीं मिल रही, तो जमीन पर हीट नहीं बन रही। इसके चलते दिन के तापमान में कमी आती है।
जब सर्दियों में दिन का तापमान सामान्य से साढ़े चार डिग्री सेल्सियस कम रहता है, तो कोल्ड डे कंडीशन बनती है।

बारिश की तरह गिर रही ओस

लेकिन जब दिन का तापमान सामान्य से साढ़े छह डिग्री कम रहे और रात का तापमान दस डिग्री सेल्सियस से नीचे हो तो सीवियर कोल्ड डे कहते हैं।

इस समय पंजाब के कुछ जिलों में कोल्ड डे और कई जिलों में सीवियर कोल्ड डे स्थिति बनी हुई है।

इसके चलते ही बहुत सी जगहों पर ओस बारिश की तरह गिर रही है और लोगों को ठिठुरन महसूस हो रही है। अभी शीत लहर नहीं चल रही।

सन शाइन ऑवर हो रहा दर्ज

मौसम विभाग के विशेषज्ञों के मुताबिक पिछले तीन दिनों से धूप न निकलने से सन शाइन ऑवर यानी सूरजी घंटे जीरो रिकार्ड हो रहे हैं।

अगर 15 से 20 दिन धूप नहीं निकलती है, तो इससे फसलों को नुकसान हो सकता है। अभी धूप के अभाव में फसलों को नुकसान की संभावना नहीं है बल्कि कड़ाके की ठंड गेहूं की फसल के लिए फायदेमंद है।

उत्तर भारत में विजिब्लिटी जीरो

पंजाब, हरियाणा, चंडीगढ़ और दिल्ली, उत्तर प्रदेश, उत्तरी राजस्थान, पश्चिम मध्य प्रदेश और झारखंड के अलग-अलग हिस्सों में हल्का एवं मध्यम कोहरा नजर आ रहा है।

सर्द मौसम की वजह से दृश्यता 500 मीटर तक दर्ज की गई है। रिपोर्ट के मुताबिक, जम्मू में शून्य, उत्तराखंड के देहरादून में शून्य, पंजाब के अमृतसर और पटियाला में 500 मीटर, चंडीगढ़ में 200, अंबाला में 500, दिल्ली के पालम और सफदरजंग में दृश्यता 500 मीटर देखी गई है।

वहीं दूसरी तरफ उत्तर प्रदेश के झांसी में 200, गोरखपुर और वाराणसी में 500, पूर्वी राजस्थान के चुरु में 200 मीटर, डाल्टन गंज में दृश्यता 500 मीटर दर्ज हुई है।

वहीं दिल्ली के तापमान की बात करें तो पालम में 9.4 (-2.8) और सफदरजंग में 9.6 (-1.2) तापमान दर्ज किया गया है।

कोहरे के कारण 21 ट्रेनें और 100 से अधिक उड़ानें प्रभावित

नववर्ष के पहले दिन भी कोहरे के कारण ट्रेन और हवाई सेवाएं प्रभावित हुईं। 21 ट्रेनें और 100 से अधिक उड़ानों में देरी हुई।

रेलवे अधिकारियों के अनुसार, ट्रेनें एक से 5 घंटे तक की देरी से चलीं।

उत्तर रेलवे के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी ने बताया कि एक जनवरी को प्रभावित ट्रेनों में रीवा आनंद विहार एक्सप्रेस सबसे अधिक 5 घंटे की देरी से चली।