जननायक: बूट पॉलिश करके कांग्रेस सरकार से बनवा दिया था ‘हाइवे’, आज BJP के उम्मीदवारों में लोगो की पहली पसंद बनें, जाने एक दबंग पूर्व सांसद के बारे में।

[google-translator]

The Target News

चंडीगढ़/ श्री आनंदपुर साहिब । राजवीर दीक्षित

पंजाब के एक दबंग राजनेता की ऐसी कहानी जो शायद राजनीति में नए आये लोगों को पता भी नहीं होगी। जी हां, कहते है न, अगर आपकी बात में दम है तो ‘सिस्टम’ झुक कर सलाम करता है। श्री आनंदपुर साहिब से भाजपा की टिकट के दावेदारों में सबसे मजबूत नाम एक पूर्व सांसद का आ रहा है।

श्री आनंदपुर साहिब से हालांकि बीजेपी ने अभी तक उम्मीदवार की घोषणा नही की है लेकिन आपको बता दें, पार्टी खेमे में पूर्व सांसद अविनाश रॉय खन्ना के नाम को करीब करीब हरी झंडी मिल चुकी है। इस नाम को सुनते ही न केवल भाजपा के बिखरे हुए संगठन में सहमति बनती दिख रही है वही अविनाश रॉय खन्ना के कार्यकाल में हुए लोकसभा क्षेत्र के विकास कार्यो को भी खूब याद किया जा रहा है।

आपको बता दें अविनाश रॉय खन्ना ने एक दफा कांग्रेस की कैप्टन सरकार को जूते पॉलिश कर गढ़शंकर से होशियारपुर मुख्य रोड़ को बनाने के लिए मजबूर कर दिया था। खन्ना खुद टेंट लगा कर राज्यमार्ग के किनारे बैठ गए व लोगो से सड़क बनाने के लिए मदद मांगने के साथ साथ उनके जूते पॉलिश करने लगें। अचानक बने इस घटनाक्रम ने न केवल पंजाब की कैप्टन सरकार के लिए मुश्किल खड़ी कर दी बल्कि खुद सी एम कैप्टन अमरिंदर सिंह को उक्त सड़क बनाने की घोषणा करनी पड़ी।

अविनाश रॉय खन्ना सन 2004 से 2009 तक सांसद रहे, इसके इलावा 2010 से 2016 तक राज्यसभा मेंबर रहे। उन्होंने अपने इतने लंबे राजनीतिक कैरियर में कभी भी अपने इलाके के लोगों का साथ नही छोड़ा। चाहे वह खरोटा फाटक को खुलवाने का संघर्ष हो या नूरपुरबेदी बस स्टैंड का निर्माण, अविनाश रॉय खन्ना की तरफ से केंद्र सरकार की कंपनी एनएफएल की तरफ से नंगल ट्रक यूनियन पर लाखों रुपए की पेनल्टी को केंसिल करवा, मानो चूने में ईंट लगाने जैसा बेहतरीन फैसला करवाया गया था।

अविनाश रॉय खन्ना ने सांसद रहते अपने लोकसभा में 100 से ज्यादा रेनशेल्टर बनवाये गए। जिसकी एक रोचक कहानी है हम जल्द ही आपके सामने पेश करेंगे।

उनकी तरफ से ही एक रात जनता के साथ गांव गांव मुहिम शुरू करवाई गई जिसमें गांव की सराय में रात को रुकना व अगले दिन लोगो की समस्याओं को सुन कर हल करवाने जैसी कोशिश काफी चर्चित हुई थी।

उनकी तरफ से ही ग्राउंड वाटर रिचार्जिंग व सेव वाटर मुहिम को शुरू करवा कर राष्ट्रीय स्तर पर वाहवाही लूटी गई। ऐसी कई और बाते जल्द ही आपके सामने रखेंगे जिसके बाद जनता खुद फैसला ले ले कि हमे अपने बीच रहने वाले को चुनना है या उसे जिसने जितने के बाद 5 साल वापिस ही नहीं आना। वोट है आपका फैसला आपको खुद ही लेना होगा। हालांकि अभी उम्मीदवारों की घोषणा बाकी है।