सिर्फ 20 हजार में 12वीं/ग्रेजूएशन! प्राइवेट स्कूल का प्रिंसिपल चला रहा था गौरखधंधा ➡️ न्यूज Link न खुलने पर पहले 92185 89500 नम्बर को फोन में save कर लें।

24

0

Target News

जालंधर । राजवीर दीक्षित

12वीं, ग्रेजुएशन के फर्जी सर्टिफिकेट बनाने के गौरखधंधे में कमिश्नरेट पुलिस ने प्राइवेट स्कूल के प्रिंसिपल व उसके साथी को अरेस्ट किया है।


दोनों आरोपी लोगों की जरुरत के मुताबिक कंप्यूटर से ही फर्जी सर्टिफिकेट निकाल कर लोगों को बेचते और हजारों रुपए वसूल रहे थे।


पुलिस कमिश्नरेट स्वपन शर्मा के नेतृत्व में जालंधर कमिश्नरेट पुलिस ने फर्जी सीबीएसई और ओपन स्कूल सर्टिफिकेट बनाने वाले गिरोह का भंडाफोड़ किया है।

देखें Video : हिमाचल से फर्जीवाड़ा भर्ती मामला, पहाड़ों में घूमने वालों को छूट, सड़क हादसों से बचने के लिए AI का होगा इस्तेमाल

सीपी स्वपन शर्मा ने कहा कि स्पेशल स्टाफ के इंस्पेक्टर इंद्रजीत सिंह को सूचना मिली थी कि शहर में एक गिरोह सक्रिय है जो सीबीएसई और ओपन स्कूल के फर्जी प्रमाणपत्र बनाने में शामिल है।

मामले की जांच के दौरान पुलिस टीम ने इस फर्जीवाड़े में संलिप्त अनुराग डाबर निवासी बी-46 न्यू विनय नगर जालंधर और राघव चड्ढा निवासी फतेहपुरी टांडा रोड के रुप में हुई है।

जांच में पता चला कि अरेस्ट आरोपी अनुराग डाबर जालंधर के दोआबा चौक के निकट स्थित ए.के. मेमोरियल स्कूल में बतौर प्रिंसिपल कार्यरत है।

पुलिस कमिश्नर ने बताया कि आरोपियों के खिलाफ थाना नंबर 8 में धारा 465,467,468,471,420 तथा 66 डी आईटी एक्ट के तहत केस दर्ज किया गया है।

स्वपन शर्मा ने बताया कि पुलिस ने तलाशी के दौरान आरोपियों के कब्जे से एक प्रिंटर सहित एक कंप्यूटर सेट और करीब 600 फर्जी प्रमाणपत्र बरामद किए गए हैं।

इस गिरोह के बारे में बात करते हुए उन्होंने कहा कि अनुराग डाबर, जो एक निजी स्कूल का प्रिंसिपल है, छात्रों से डेटा इक्टठा करता था और इसे दूसरे आरोपी राघव को भेजता था।

स्वपन शर्मा ने कहा कि राघव कंप्यूटर का उपयोग कर डेटा से फर्जी प्रमाणपत्र तैयार करता था और उसे महंगे दामों पर बेचता था।

पुलिस कमिश्नर ने बताया कि यह गिरोह इन प्रमाणपत्रों को 20,000 रुपये से लेकर 25,000 रुपये तक की कीमत पर बेचता था।

उन्होंने कहा कि मामले की आगे की जांच जारी है और अधिक जानकारी बाद में साझा की जाएगी।

The Target News के Whatsapp ग्रुप में शामिल हों, फेसबुक, यू-ट्यूब, इंस्टाग्राम पर Page को Like OR Follow करें। 
  • ➡️ ➡️ खबर का Link न खुलने पर 92185 89500 नम्बर को तुरंत फोन में सेव करें। Click करें