Cyber Fraud: गृह मंत्रालय के नाम पर हिमाचल के कई स्कूलों को भेजे नोटिस, मांगी संवेदनशील जानकारी, मंडी जिले के स्कूलों में नोटिस पहुंचे, साइबर क्राइम पुलिस हरकत में

[google-translator]

The Target News

ऊना । राजवीर दीक्षित

साइबर ठग अब गृह मंत्रालय के नाम पर फर्जी नोटिस भेजकर शिक्षण संस्थानों से संवेदनशील जानकारी मांग रहे हैं। मंडी जिले के छह स्कूलों को ऐसे नोटिस मिले हैं।

नोटिस में विद्यार्थियों का नाम, फोटो और जानकारी मांगी गई है। आशंका जताई जा रही है कि बच्चों के फोटो, उनके नाम सहित अन्य जानकारियों का इस्तेमाल साइबर अपराधी बाल यौन शोषण, साइबर अश्लीलता में कर सकते हैं। ऐसी सामग्री तैयार कर इसके बदले फिरौती भी मांग सकते हैं।

मामला जानकारी में आते ही साइबर क्राइम पुलिस सक्रिय हो गई है। शिक्षा निदेशालय ने भी नोटिसों से सावधान रहने को कहा है। बताया गया है कि मंत्रालय या सरकारी एजेंसियों के नोटिस शिक्षण संस्थानों के बजाय पहले विभाग के पास आते हैं। जिन स्कूलों के पास ऐसे नोटिस सीधे आए हैं, वे सचेत रहें।

➡️ Video देखे कैसे हाईवे पर जलती कार में फंसे युवक को बचाने पहुंचे लोग, इस Link को Click करें।

विभाग से संपर्क कर नोटिस की पुष्टि करें। पुलिस अधीक्षक ऊना राकेश सिंह ने कहा कि बेशक आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस ने इंटरनेट जगत को नए आयाम तक पहुंचाया है, लेकिन सुविधा के साथ इससे साइबर अपराधी भी बढ़े हैं। किसी के साथ अपनी निजी जानकारियां साझा करने से बचना चाहिए।

मंडी जिले के शिक्षण संस्थानों ने संपर्क कर गृह मंत्रालय और सरकारी एजेंसियों के नाम नोटिस आने की बात कही है। नोटिस में बच्चों से जुड़ीं जानकारियां मांगी गई हैं। पड़ताल करने पर नोटिस फर्जी पाए गए हैं। उनमें लिखी शब्दावली वैसी ही थी, जैसे किसी मंत्रालय या एजेंसी से आती हो- मनमोहन सिंह, एसएचओ, साइबर क्राइम पुलिस स्टेशन, सेंट्रल रेंज, मंडी

स्कूलों को बच्चों से जुड़ी संवेदनशील जानकारी साझा करने से पहले उसकी पड़ताल करने की हिदायत दी गई है। हालांकि, ऊना जिले में ऐसे नोटिस किसी स्कूल में अभी तक नहीं मिले, लेकिन सतर्क कर दिया गया है ताकि किसी बच्चे या उनके अभिभावकों को किसी प्रकार की परेशानी न झेलनी पड़े- राजेंद्र कौशल, उपनिदेशक, उच्च शिक्षा विभाग, ऊना

नोटिस में दिखाया कार्रवाई का डर
नोटिस में गंभीर आरोप लगाते हुए कार्रवाई का डर दिखाया गया है। फिलहाल साइबर पुलिस थाना मध्य जोन के पास एक मामला पहुंचा है और पांच अन्य मामले इस तरह के सामने आने की भी सूचना है। स्कूलों को चाइल्ड पोर्नोग्राफी और अन्य मामलों को लेकर केंद्रीय एजेंसी के नाम पर नोटिस आए हैं। इनमें से एक ने यह मामला साइबर पुलिस थाना मध्य जोन मंडी के ध्यान में लाया तो जांच में नोटिस फर्जी निकला।

एएसपी साइबर पुलिस थाना मध्य मंडी मनमोहन सिंह ने बताया कि केंद्रीय एजेंसियों, कस्टम, अलग-अलग पुलिस के नाम से फर्जी नोटिस आ रहे हैं। इनकी वेरिफिकेशन साइबर पुलिस थाना में ई-मेल के माध्यम से करवाई जा सकती है। इस संबंध में एडवाइजरी जारी की गई है।