विकास बग्गा हत्याकांड: 1 लाख का सौदा मिले 73 हजार, कनपटी पर मारी थी गोली जबड़े में फंसी मिली, अदालत ने 6 दिन के पुलिस रिमांड पर भेजे कातिल

[google-translator]

The Target News

नंगल । राजवीर दीक्षित

विकास बग्गा हत्याकांड में एसएसपी गुलनीत सिंह खुराना की अगुवाई में जांच एजेंसियां परत दर परत खुलासे कर रही है।

पकड़े गए दोनों हत्यारे प्रोफेशनल किलर है और उन्हें इस काम के लिए 1 लाख रुपए देने की बात हुई लेकिन उन्हें मिले केवल 73 हजार, इन्ही पैसों में उन्हें हथियार भी अपने ही इस्तेमाल करने थे।

इन कातिलों के पास से केवल 5 हजार नगद बरामद हुए है। इन्हें इस काम की सुपारी किसने दी इस पर एजेंसियों ने जांच शुरू की है।

13 अप्रैल को बैसाखी वाले दिन नंगल रेलवे रोड पर विश्व हिंदू परिषद के अध्यक्ष को गोली मारकर हत्या करने वाले दोनों आरोपियों को तीन दिन बाद पंजाब पुलिस ने गिरफ्तार कर सलाखों के पीछे डाल दिया है। आज डीएसपी मनजीत सिंह सहित भारी पुलिस बल के नेतृत्व में उसे पेशी के लिए माननीय अदालत नंगल लाया गया।

➡️ नंगल के विकास बग्गा हत्याकांड में पकड़े गए 2 शूटर वदेशी फंडिंग के साथ अपने काम को अंजाम दे गए जाने सारी जानकारी। पंजाब के DGP गौरव यादव की जुबानी।

नंगल माननीय अदालत ने मनदीप कुमार उर्फ मंगी और सुरिंदर कुमार उर्फ रिक्का को 6 दिन के लिए नंगल पुलिस की रिमांड पर भेज दिया है, जिनसे नंगल पुलिस गहनता से पूछताछ करेगी। पहले पड़ाव की जांच में पुलिस को ‘टारगेट किलिंग’ का मामला सामने आया है। जिसमे विदेशी फंडिंग की कड़ी भी जुड़ी है।

बताया जा रहा है कि इन हमलावरों पर पहले से ही आर्म्स एक्ट, लूट, नशा और चोरी के मामले दर्ज हैं। दोनों हमलावर नवाशहर के सलो गांव के रहने वाले हैं।

देखें Video: ➡️ नंगल के विकास बग्गा की हत्या के विरोध में लुधियाना में निकाले गए रोष मार्च का दृश्य।

सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक जब एक हमलावर ने विकास की कनपटी में गोली मारी तो वह गोली उसके जबड़े में फंस गई और उसकी मौत हो गई। इस घटना को अंजाम देने के लिए उन्होंने 32 बोर के देसी रिवॉल्वर का इस्तेमाल किया।

जांच के दौरान पंजाब पुलिस को विकास की दुकान से गोली का खोल भी मिला है, लेकिन जब पोस्टमार्टम हुआ तो गोली उसके जबड़े में फंसी मिली।

बताया जा रहा है कि 7.62 एमएम की गोली ढूंढने में पोस्टमार्टम में तीन घंटे लग गए। उक्त हमलावरों के तार पुर्तगाल व पाकिस्तान से जुड़े थे और उन्हें ऐसी बुरी वारदातों को अंजाम देने के लिए ही ड्रग्स और पैसे मिलते थे।

विकास हत्या कांड की और भी खबरें देखने सुनने के लिए आप हमारी खबर खोल कर Join Group को क्लिक करें। आपको पल पल की जानकारी से अवगत करवाएंगे।