Expiry Syrup के मामले में आंगनवाड़ी केंद्र की बड़ी कार्रवाई, वर्करों की सेवाएं रद्द

[google-translator]

The Target News

संगरूर । राजवीर दीक्षित

संगरूर के गोबिंदपुरा जवाहरवाला के आंगनवाड़ी केंद्र में शून्य से तीन साल के बच्चों को एक्सपायरी डेट का सिरप पिलाने के मामले में बड़ी कार्रवाई हुई है।

गांव के आंगनवाड़ी केंद्र में आंगनबाडी कार्यकर्ता की सेवाएं समाप्त कर दी गई हैं। पिछले दिनीं आंगनबाडी केंद्र पर आने वाले छोटे बच्चों के परिजनों को एक्सपायरी दवा देकर घर भेज दिया गया था। इसके बाद लोगों ने नाराजगी जाहिर की और मामला मीडिया में चर्चा का विषय बन गया।

स्वास्थ्य विभाग द्वारा आंगनवाड़ी केंद्रों में छोटे बच्चों को दी जाने वाली आयरन और फोलिक एसिड सिरप की आपूर्ति 2022 में की गई थी। उसके बाद 2023 और 2024 में भी इसकी आपूर्ति आंगनवाड़ी केंद्रों में दी गई थी। लेकिन अब यह कार्रवाई छोटे बच्चों को 2022 सप्लाई देने के मामले में की जा रही है। स्वास्थ्य विभाग ने कहा कि हमारे पास जो रिपोर्ट आती थी उसमें यह कहा जाता था कि स्वास्थ्य विभाग द्वारा भेजी गयी सारी दवा दे दी जाती है। उसके बाद ही अगली सप्लाई 2023 से 24 के बीच दी जाती है।

सेवाएं समाप्त कीं

उधर, आंगनवाड़ी विभाग के डीपीओ प्रदीप सिंह गिल ने जानकारी देते हुए बताया कि लहरा गागा के गांव गोबिंदपुरा जवाहरवाला में छोटे बच्चों को एक्सपायरी डेट की दवा देने का मामला सामने आया है। मामले की जांच करने पर पता चला कि यह बड़ी लापरवाही गांव के आंगनवाड़ी केंद्र में मौजूद कार्यकर्ताओं ने की है। इसके चलते उनकी सेवाएं समाप्त कर दी गई हैं।