क्या इसलिए श्री आनंदपुर साहिब में विजय इंदर सिंगला की नहीं होंगी राह आसान, पढ़ें सारी जानकारी

[google-translator]

The Target News

चंडीगढ़ । राजवीर दीक्षित

श्री आनंदपुर साहिब लोकसभा क्षेत्र से कांग्रेस पार्टी द्वारा मैदान में उतारे गए ‘पैराशूट’ उम्मीदवार विजय इंदर सिंगला लगातार चौथे उम्मीदवार हैं जिन्हें कांग्रेस ने बाहर से मैदान में उतारा है।

चुनौती का सामना कर रहे विजय इंदर सिंगला के लिए राह आसान नहीं होगी। वह पिछली कांग्रेस सरकार में शिक्षा और लोक निर्माण मंत्री थे और उन्हें एक बार फिर कांग्रेस पार्टी ने टिकट दिया है।

इससे पहले, पिछले तीन लोकसभा चुनावों के दौरान बाहरी उम्मीदवार होने के बावजूद कांग्रेस पार्टी ने इस लोकसभा क्षेत्र से रवनीत सिंह बिट्टू, अंबिका सोनी और मनीष तिवारी को मैदान में उतारा था।

इनमें से रवनीत सिंह बिट्टू और मनीष तिवारी भी जीतने में सफल रहे। मौजूदा हालात में कांग्रेस प्रत्याशी की राह आसान नहीं होगी।

इसका सबसे बड़ा कारण श्री आनंदपुर साहिब के अंतर्गत आने वाले कई विधानसभा क्षेत्रों के कांग्रेसी नेताओं का इस टिकट को हासिल करने की दौड़ में शामिल होना बताया जा रहा है।

मोहाली विधानसभा क्षेत्र से पूर्व मंत्री बलबीर सिंह सिद्धू और नवांशहर निर्वाचन क्षेत्र से पूर्व विधायक अंगद सिंह श्री आनंदपुर साहिब निर्वाचन क्षेत्र से लोकसभा टिकट की दौड़ में थे। हालांकि, कांग्रेस आलाकमान ने सभी के दावों को खारिज करते हुए विजय इंदर सिंगला पर दांव लगाया है।

टिकट के दावेदारों को एकजुट करना विजय इंदर सिंगला के लिए चुनौती होगी। पूर्व मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी, श्री चमकौर साहिब निर्वाचन क्षेत्र से पार्टी नेता, जालंधर से लोकसभा के लिए पार्टी के उम्मीदवार भी हैं, इसलिए उन्हें इस निर्वाचन क्षेत्र में पार्टी के शीर्ष नेता के समर्थन की भी कमी होगी।