Breaking: हरियाणा में भाजपा सरकार पर संकट, जानें कितने विधायकों ने वापिस लिया समर्थन, कांग्रेस के साथ मिलाया हाथ।

[google-translator]

The Target News

चंडीगढ़ । राजवीर दीक्षित

हरियाणा में बीजेपी को झटका लगा है। तीन निर्दलीय विधायकों ने बीजेपी से समर्थन वापस ले लिया है। हरियाणा में उन्होंने कांग्रेस को बाहर से समर्थन देने का ऐलान किया है।

उन्होंने यह भी कहा है कि वह आगामी विधानसभा चुनाव में कांग्रेस के साथ रहेंगे। तीन विधायक रोहतक पहुंच गए हैं। यहां उन्होंने नेता प्रतिपक्ष भूपेन्द्र सिंह हुड्डा के साथ प्रेस कॉन्फ्रेंस की। एक और निर्दलीय विधायक के समर्थन वापस लेने की चर्चा है। अभी भी उसका इंतजार है।

प्रेस कॉन्फ्रेंस में नेता प्रतिपक्ष भूपेन्द्र सिंह हुड्डा और कांग्रेस अध्यक्ष उदय भान भी मौजूद रहे। विधायकों ने नायब सिंह सैनी के नेतृत्व वाली हरियाणा सरकार से अपना समर्थन वापस लेते हुए बढ़ती महंगाई और बेरोजगारी का मुद्दा उठाया है।

विधायकों ने समर्थन वापस लेकर नायब सिंह सैनी सरकार को संकट में डाल दिया है। कुछ दिन पहले ही बीजेपी सरकार ने अपने बहुमत का सबूत दिया था।

Video: नंगल में शिअद प्रत्याशी प्रो. प्रेम सिंह चंदूमाजरा के पहुंचने पर सर्कल प्रधान गुरदीप सिंह बावा ने अपने समर्थकों के साथ स्वागत किया।

हरियाणा में तीन निर्दलीय विधायकों के सरकार से समर्थन वापस लेने के बाद विपक्ष के नेता भूपिंदर सिंह हुड्डा ने राज्य में राष्ट्रपति शासन लगाने की मांग की है।

उन्होंने सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि तीनों विधायकों ने जनभावनाओं के अनुरुप फैसला लिया है। कांग्रेस की लहर चल रही है तथा वह इस लहर में अपना योगदान डालेंगे।

तीन निर्दलीय विधायकों के हरियाणा सरकार से समर्थन वापस लेने और कांग्रेस को समर्थन देने की खबरों के बारे में पूछे जाने पर हरियाणा के मुख्यमंत्री और बीजेपी नेता नायब सिंह सैनी ने कहा कि मुझे यह जानकारी मिली है। विधायकों की कुछ आकांक्षाएं हैं। कांग्रेस कुछ लोगों की इच्छाओं को पूरा करने में लगी हुई है। अब कांग्रेस को जनता की आकांक्षाओं से कोई लेना-देना नहीं है।