पंजाब में AAP को झटका: श्री आनंदपुर साहिब लोकसभा में बिगड़ेंगे चुनावी समीकरण; पढ़ें सारी जानकारी

[google-translator]

The Target News

चंडीगढ़ । राजवीर दीक्षित

पंजाब में श्री आनंदपुर साहिब लोकसभा चुनाव में सियासी समीकरण बिगाड़ने की तैयारी को लेकर पार्टियों में चल रही जंग में नया मोड़ आ गया है।

साल 2022 के विधानसभा चुनाव में खरड़ से टिकट न मिलने से नाराज होकर कांग्रेस को अलविदा कहकर आम आदमी पार्टी ( AAP) में शामिल हुए पूर्व मंत्री जगमोहन सिंह कंग व उनके बेटे यादविंदर सिंह कंग ने अब आप छोड़ कर कांग्रेस में घर वापसी की है।

उन्होंने दिल्ली में पार्टी के राष्ट्रीय प्रधान मल्लिकार्जुन खड़गे की हाजिरी में कांग्रेस जॉइन की है।

इस मौके पार्टी के पंजाब प्रभारी देवेंद्र यादव भी हाजिर रहे। इसे आप के लिए झटका समझा जा रहा है। कंग का खरड़ विधानसभा हलके में अच्छा प्रभाव है। वह खरड़ विधानसभा में अपना जबरदस्त वर्चस्व रखते है।

दम तोड़ गई AAP सरकार की SSF मुहिम, नंगल में सड़क हादसे के बाद नही पहुंची टीम, युवक की मौत, पढ़ें

2022 में कांग्रेस पार्टी ने खरड़ से जगमोहन कंग की टिकट काट दी थी। उनकी जगह रोपड़ के शराब कारोबारी विजय शर्मा टिंकू को खरड़ से चुनावी मैदान में उतारा था। उस समय कंग ने आरोप लगाया था कि पूर्व CM चरणजीत सिंह चन्नी ने हाईकमान को मिस गाइड कर उनकी टिकट कटवाई है। क्योंकि वह उनसे सीनियर है। इसके बाद वह आप में शामिल हो गए थे।

जगमोहन कंग पुराने कांग्रेसी नेताओं में से एक हैं। वह 1976 युवा कांग्रेस के कला एवं संस्कृति प्रकोष्ठ के अध्यक्ष बने थे। वह 1992 में पहली बार मोरिंडा विधानसभा से विधायक चुने गए थे। वह 2002 में मोरिंडा और 2012 में खरड़ विधानसभा क्षेत्र से दोबारा विधायक बने। 2002 वाली सरकार में वह मंत्री थे। 2017 में विधानसभा चुनाव में आप के उम्मीदवार कंवर संधू से 2012 मतों से चुनाव हार गए थे।